कैसी पत्रकारिता कब, क्यों और किसके लिए

पत्रकारिता में हावी हो चुकी व्यवसायिक दौड़ में विज्ञापनों, पेड न्यूज और जुमलेबाजी वाली खबरों के बीच कहीं आम आदमी के सरोकार छूट न जाएं और अगली पीढ़ियों को सौंपा जाने वाला आईना दाग धब्बों से मुक्त हो यही हमारा मकसद और सपना है.

लेखन और शब्दों का बाजीगरी के बीच जवानी से बुढापे की दहलीज तक आ चुके वरिष्ठ पत्रकारों का अनुभव हमारे साथ है तो नए जोश से सराबोर युवाओं की छोटी सी ही सही पर एक टीम भी, संसाधन सीमित हैं, कम हैं और हमसे गलती भी हो सकती है पर इतना तय है कि हमारी नीयत कभी गलत नहीं होगी क्योंकि हम भी इस समाज और देश का ही हिस्सा हैं.

त्रिकाल न्यूज मीडिया प्रा. लिमिटेड ने अंग्रेजी और हिन्दी मे लोगो से जुड़ने के लिए फिलहाल दिल्ली, लखनऊ, रांची मे हमारे कार्यालय है और विस्तार की प्रक्रिया जारी है...हर कस्बे और गांव तक पहुंचने का हमारा इरादा है.