पेट्रोल~डीजल के दामों ने उड़ाई सरकार की नींद, बिगड़ सकता है राजनीतिक खेल

अब पेट्रोल डीजल के बढे हुए दाम सरकार की नींद उडाने लगी है कि कहीं यह भाजपा का पूरा खेल ही ना बिगाड़ दे।

भले भाजपा के घनघोर समर्थक पेट्रोल डीजल सौ रुपए प्रति लीटर के पार चले जाने के बाद भी पार्टी के पक्ष में खड़े हों पर आम जनता की नजरों ने यह बड़ा मुद्दा नाम सकता है।

इसे लेकर केंद्र सरकार ने पेट्रोलियम कंपनियों के अधिकारियों के साथ संसद १७ जून को बैठक बुलाई है जिसके बाद इसे जीएसटी के दायरे में लाने पर विचार किया जाएगा या ऐसे तरीके निकाल जायेगे जिससे दाम कम हो सके।