जबरदस्त खाद्य संकट की चपेट में श्रीलंका, फूड इमरजेंसी लागू

कर्जों के बोझ से दबे श्रीलंका में सरकार की गलत नीतियों की वजह से खाने पीने का इतना जबरदस्त संकट पैदा हो गया है कि सरकार को फूड इमरजेंसी घोषित करनी पड़ी है।

हालांकि यह इमरजेंसी लागू हुए एक पखवाड़ा हो चुका है पर स्थितियों में कोई खास बदलाव नहीं हुआ है और अभी भी आटा, दाल, चावल तेल और अन्य जरूरी सामानों के लिए लोग मॉल और दुकानों के बाहर लाइन लगाए देखे जा सकते हैं और वहां भी जरूरत का सामान ना मिल पाने से लोग खाली हाथ ही रह जाते हैं।

चीनी और दूध ना मिलने से छोटे बच्चे और बुजुर्ग सबसे ज्यादा परेशान हो रहे हैं उस पर विदेशी मुद्रा भंडार सिकुड़ने और भुगतान असंतुलन ठीक करने के लिए श्रीलंका ने कोई छह सौ जरूरी चीजों के आयात पर रोक लगा दी है जिसने समस्या को और विकराल बना दिया है।

इस समय वहां की सेना और पुलिस सड़को पर उतरकर जमा खोरी रोकने में लगी है पर उसका कोई फायदा अभी तक तो नहीं मिला है।

इस बीच अमेरिका ने श्रीलंका को चालीस करोड़ डॉलर की मदद दी है और देखना है कि यह नई मदद श्रीलंका और वहां के लोगों की क्या मदद कर पता है।


Subscribe to our Newsletter